Breaking News
Home / Recent / सहरसा :- अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र कर्मियों ने किया मानवता को शर्मसार , दर्द से कहरता रहा प्रसूति, बंद पड़ा रहा मंगवार अस्पताल,फिर हो गयी बच्चे की मौत। । 

सहरसा :- अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र कर्मियों ने किया मानवता को शर्मसार , दर्द से कहरता रहा प्रसूति, बंद पड़ा रहा मंगवार अस्पताल,फिर हो गयी बच्चे की मौत। । 

सहरसा :- अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र कर्मियों ने किया मानवता को शर्मसार ।

बंद पड़े मंगवार के अस्पताल, प्रसूति ने दिया खुले आसमान के निचे अस्पताल प्रांगण में बच्चे को जन्म 

इलाज के अभाव में गई मासूम बच्चे की गई जान

खुले आसमान के निचे बच्चे का जन्म
बिहार सहरसा सोनवर्षा राज :- प्रखंड क्षेत्र स्थित एकमात्र 24*7 अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र मंगवार के चिकित्सक समैत समस्त चिकित्सक कर्मियों के लिए एक अत्यंत शर्मनाक घटना सामने आई है जिसने समस्त सरकारी अस्पताल कर्मियों के क्रियाकलापों पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया है।घटना रविवार की देर शाम की है जब प्रसव हेतु पहुंची बरैठ पंचायत के वार्ड नं 12 निवासी घनश्याम पोद्दार की पत्नी श्वेता देवी मंगवार स्थित अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र पहुंची।लेकिन प्रसव पीड़ा से छटपटा रही श्वेता देवी के परिजन स्वास्थ्य केंद्र में लटके ताले को देख निराश हो गए।बावजूद प्रसव पीड़ा से तड़प रही श्वेता देवी को 15 किलोमीटर दूर सोनवर्षा स्थित पीएचसी तक पहुंचाना संभव नहीं था।संयोग वश स्वास्थ्य केंद्र परिसर में स्थाई रूप से रह रही ममता राधा कुमारी की मदद से बंद स्वास्थ्य केंद्र के खुले मैदान में श्वेता देवी को प्रसव कराया।लेकिन नवजात शिशु को ईलाज के अभाव में बचाया नहीं जा सका। इस दौरान अस्पताल कर्मियों को पीड़ित परिजनों द्वारा फोन लगाते रहे लेकिन नर्स से लेकर प्रभारी डॉ तक फोन उठान मुनासिब नहीं समझा ।

ये भी पढें :- सहरसा सी एस ललन कुमार ने किया कहा ।
मंगवार अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र कोई शिवजी के त्रिशूल पर बसा है ।यहां तो कर्मियों के कमी के वजह से पीएचसी मे इमरजेंसी ड्यूटी संभव नहीं है।वैसे भी रविवार की वजह से आउटडोर आज बंद है। स्वास्थ्य केंद्र खुलने का समय सुबह 8:00 बजे से दिन के 2:00 बजे तक ही है। इंन्टैसली सरकारी स्वास्थ्य केन्द्र को बदनाम करने के लिए बंद स्वास्थ्य केंद्र बंद होने के बावजूद गर्भवती महिला को प्रसव कराने स्वास्थ्य केंद्र लाया गया।


ललन कुमार सीएस-सहरसा

बंद पड़ा अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र मंगवार

यह अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र  कागजों पर ही चलने को मशहूर – ग्रामीण

पिडित परिजन 

वही जब इस घटना के संबंध में विभाग के वरीय पदाधिकारी से बात की गई तो उन्होंने दोषी पर कार्रवाई का आश्वासन देकर पल्ला झाड़ लिया जबकि स्थानीय लोगों का कहना है कि यहां कई बार ऐसी घटनाएं हो चुकी है विभाग को सूचना दिया भी गया है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होता है ।

अंधकार मय मंगवार अस्पताल परिसर
सबसे बड़ी बात बिजली रहने के बावजूद भी अस्पताल सहित पूरे प्रागंण अंधकार मय ,

अस्पताल प्रागंण में एक भी लाईट नहीं।

About Gajendra Kumar

mm

Check Also

खगड़िया: रेल सलाहकार समीती की बैठक , यात्रियों के समस्याओं से कराया गया अवगत

खगड़िया|खगड़िया स्टेशन अधीक्षक कार्यलय कक्ष में सोमवार को सलाहकार समीती की बैठक का आयोजित किया …