Breaking News
Home / Recent / खगड़िया: JAP सुप्रीमों PAPPU YADAV ठाठा गांव पहुंचकर मृतकों के परिजनों से मुलाकात कर दी सांत्वना!! पुलिस-प्रशासन पर लगाया गंभीर आरोप, कहा- कारवाई के नाम पर निर्दोष महिलाओं एवं बच्चों को जेल भेजना दुर्भाग्यपूर्ण, अपराधियों पर हो कार्रवाई।। प्रबुद्धजनों से गांव में शांति बहाल करने की पहल का किया अपील…

खगड़िया: JAP सुप्रीमों PAPPU YADAV ठाठा गांव पहुंचकर मृतकों के परिजनों से मुलाकात कर दी सांत्वना!! पुलिस-प्रशासन पर लगाया गंभीर आरोप, कहा- कारवाई के नाम पर निर्दोष महिलाओं एवं बच्चों को जेल भेजना दुर्भाग्यपूर्ण, अपराधियों पर हो कार्रवाई।। प्रबुद्धजनों से गांव में शांति बहाल करने की पहल का किया अपील…

खगड़िया | आज दिनांक 13-02-2020 को जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमों पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव तीन हत्या से खौफजदा पूर्वी ठाठा पंचायतवासियों से मिलने ठाठा गाँव पहुंचे। श्री यादव तीनों मृतक परिवार के पूर्व मुखिया अमोद यादव, बृजनंदन यादव एवं सत्तो यादव के घर इस दुख की घड़ी में सांत्वना देने गये। साथ ही साथ रामवरण चौधरी के घर पर भी गये। जिसके ईट चिमनी पर लगे छह ट्रेक्टर को जला दिया गया था। दुख इस बात की रही कि स्वर्गीय बृजनंदन यादव के घर के बाहर खाली मकान की सुरक्षा में दस से बाहर पुलिस बल खड़े मिले। स्वर्गीय अमोद यादव के घर पर तो एक पक्षी तक नहीं मिला। स्वर्गीय सत्तो यादव के घर पर मृतक को अग्नि देने वाला बेटा, एक-एक महिला से भी मुलाकात हुई। जिनसे पंचायत में आतंक के बारे में जानकारी मिली। उसके बाद जाप सुप्रीमों पप्पू यादव जी अपने समर्थकों के साथ गांव में लोगों के अंदर समाये खौफ को समाप्त करने के लिए पैदल शांति मार्च किये और रामवरण चौधरी के घर पहूंच कर उनके परिजनों से मिले। वहां कुछ ग्रामीणों द्वारा यही भयक्रांत ठाठा वासी के दर्द बताते हुए कहा कि वर्तमान में यहाँ के लोग पुलिस एवं अपराधी दोनों से डरे हुए हैं। एक तरफ मृतक के रिश्तेदार साथ-साथ दोस्ती भी होने पर अपराधी की गोली का डर है, तो दूसरी तरफ मृतक का रिश्तेदार होने के नाते उसे बेबजह जेल जाने का भी भय बना हुआ है। प्रतिफल यह है कि दर्जनों घर के लोग सपरिवार घर छोड़कर अन्यत्र चले गये । उनके घर भी आदमी के बदले लटका हुआ ताला मिला। उपस्थित पीड़ित परिवार एवं ग्रामीण को सांत्वना देते हुए जाप सुप्रीमों पप्पू यादव ने कहा कि हत्या किसी का भी हुआ, चाहे पहले पूर्व मुखिया स्वर्गीय बृजनंदन यादव का हुआ वह भी गलत है, पुनः बदले की भावना से पूर्व मुखिया अमोद यादव की हत्या हुई वह भी गलत है। सबसे बड़ी बात प्रतिशोध की आग इस कदर सर चढ़ गया कि पुनः सत्तो यादव की हत्या हुई और निर्दोष रामवरण चौधरी के चिमनी भट्टे पर खड़े ट्रेक्टर को जलाया गया। यह अति और सीमा के पार हो गया। इन्होंने दो टूक शब्दों में कहा कि प्रतिशोध कभी भी अमन शांति का रास्ता नहीं हो सकता है। इन्होंने ग्रामीणों से घर न छोड़ने की सलाह दी साथ हीं इस क्षेत्र के प्रबुद्धजन से आह्वान किया कि गाँव जाकर दोनों पक्षों के अंदर बढती ज्वाला को शांत करने का सार्थक पहल करें। इन्होंने कहा कि पप्पू यादव हर अमन चैन के कदम के साथ रहेगा। इतना हीं नहीं आतंक और अपराध को समाप्त करने के लिए किसी भी सीमा तक जा सकता हूँ। चाहे अपराधी कितना हीं बड़ा ताकतवर हो। इन्होंने पुलिस-प्रशासन से आह्वान किया कि किसी भी व्यक्ति को मारने में पुरुष का हाथ हो सकता है लेकिन महिला का हाथ नहीं हो सकता है। इसलिए दोनों पक्षों के महिला को अविलंब रिहा करने की मांग की है। इन्होंने कहा कि जो व्यक्ति गोली चलने की सूचना पुलिस प्रशासन को देती है, जो महिला जानमाल की सुरक्षा के लिए पुलिस के पास जाती है और उसे भी जेल भेज दिया जाता है। यह कहाँ का इंसाफ है। अब पीड़ित परिवार न्याय के लिए कहां जाएं। इन्होंने इस पूरी घटना की न्यायिक जांच करवाने की मांग की। इन्होंने आतंक को समाप्त करने के लिए डीजीपी स्तर से पहल करवाने के लिए आश्वस्त किया। एक प्रश्न के जबाब में जाप सुप्रीमों पप्पू यादव ने कहा कि मेरे आने का उद्देश्य गाँव में शांति बहाल करना है न कि आपस की रंजिश को बढ़ाना है। इस अवसर पर उनके साथ युवा शक्ति के प्रदेश अध्यक्ष नागेंद्र सिंह त्यागी, जन अधिकार पार्टी के जिलाध्यक्ष कृष्णा नन्द यादव, युवा शक्ति के जिलाध्यक्ष चंदन कुमार सिंह, दीपक चंद्रवंशी, युवा शक्ति के कार्यकारी जिलाध्यक्ष अभय कुमार गुड्डू, शिवराज यादव, सुनील चौरसिया, किशोर दास, पवन दास, छात्र नेता रौशन राणा, सुमित कुमार, विक्रम सुधांशु उर्फ गुड्डू यादव, सुधांशु यादव, आशुतोष यादव, निलेश कुमार यादव, जनार्दन यादव, रामदेव यादव, विकास पासवान, राजेश यादव, धर्मेन्द्र यादव, पप्पू यादव, चंद्रभूषण यादव, अर्जुन यादव, संजय जायसवाल, रतन कुमार, अभिषेक कुमार, अमृत राज, दयानंद यादव, रिकेश यादव इत्यादि प्रमुख रुप से उपस्थित थे।

About TODAY BIHAR

Check Also

खगड़िया: डाॅ.विवेकानंद के सहयोग से बनेगा अग्नि पीड़ित परिवारों का आशियाना!! शहीद प्रभूनारायण अस्पताल की ओर डाॅ.विवेकानंद ने गोगरी प्रखंड के सहरौन गाँव के अग्नि-पीड़ितों के बीच किया छप्पर वितरण, कहा- अनवरत जारी रहेगा मदद..

खगड़िया | जिला के गोगरी प्रखंडन्तर्गत पौरा पंचायत के सहरौन गाँव में पिछले दिनों आग …